अब गेल के अधिग्रहण पर ओएनजीसी की नजर

तेल और गैस क्षेत्र की देश की सबसे बड़ी सरकारी कंपनी तेल एवं प्राकृतिक गैस निगम (ओएनजीसी) गत सप्ताह देश की तीसरी सबसे बड़ी तेल शोधक एवं विपणन कंपनी एचपीसीएल के साथ अधिग्रहण का करार करने के बाद गेल इंडिया लिमिटेड को अधिगृहित करने के करीब है।

ONGC

सूत्रों के मुताबिक दो अन्य कंपनियों इंडियन ऑयल कार्पोरेशन और भारत पेट्रोलियम भी गेल के अधिग्रहण की इच्छुक थीं लेकिल गेल प्रबंधन ने इनके बजाय ओएनजीसी को तरजीह दी है। गेल ने दूसरे विकल्प के रूप में ऑयल इंडिया लिमिटेड(ओआईएल) का चयन किया है। ऑयल में सरकार की 66.13 प्रतिशत हिस्सेदारी है, जिसका बाजार मूल्य करीब 18 हजार करोड़ रुपये है। गेल का मानना है कि ओएनजीसी के साथ उसका विलय तेल एवं गैस क्षेत्र के लिए अधिक फायदेमंद है क्याेंकि इससे तेल उत्पादक और परिवहन तथा विपणन नेटवर्क एक मंच पर आयेंगे।

इंडियन ऑयल कॉर्प और भारत पेट्रोलियम ने गेल के साथ अपने अधिग्रहण को लेकर अलग अलग तर्क दिये हैं। इंडियन ऑयल कॉर्प अपनी क्षमता बढाने के लिए या तो अन्य तेल शोधक कंपनी या गेल जैसी कंपनी का अधिग्रहण करना चाहती है। भारत पेट्रोलियम ने हाल में पेट्रोलियम मंत्रालय काे लिखे पत्र में कहा है कि अधिग्रहण के लिए गेल उसका पहला विकल्प है। सूत्रों का कहना है कि सरकार ने अभी अन्य सरकारी कंपनियों के प्रस्तावों पर कोई निर्णय नहीं लिया है। @ http://bit.ly/2n0t8tr

Advertisements

About nayaindianewspaper

Nayaindia.com delivers latest news in Hindi that makes most sense and insight of happenings across India. Visit us for breaking News in Hindi online.
This entry was posted in Business News Online and tagged , . Bookmark the permalink.

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s